(36) जुड़ते पुल ||||

एक बार दो भाई जो पास पास दो खेतो में रहते थे,में झगड़ा हो गया। पिछले 40 सालो से बिना किसी अनबन के पास पास खेती करते हुए, मशीने साझा करते हुए, मजदूर बांटते और प्यार से रहते हुए, ये पहली बार था की इतना झगड़ा हो गया था। और सालो का रिस्ता बिखर गया।Continue reading “(36) जुड़ते पुल ||||”

(35) असली शान्ति ||||

एक बार एक राजा था जिसने घोषित किया की जो कलाकार शान्ति का सबसे अच्छा चित्र बनाएगा उसे इनाम दिया जायेगा। कई कलाकारों ने कोशिश की। राजा ने सभी चित्र देखे मगर अंत में दो चित्र सबसे ज्यादा पसंद आये जिनमे से उन्हें एक चुनना था। एक तस्वीर एक शांत सरोवर की थी उस सरोवरContinue reading “(35) असली शान्ति ||||”

(34) समय का महत्व ||||

सोचिये कोई बैंक है जो हर रोज सुबह आपके अकाउंट में 86,400 डाल देता हो। पिछले दिन का कोई हिसाब नहीं रहता। जो बकाया रह जाता है वह हर श्याम चला जाता है। आप क्या करेंगे। सारा पैसा निकल लेंगे और क्या। हम सबके पास ऐसा एक बैंक है उसे कहते है समय। हर सुबहContinue reading “(34) समय का महत्व ||||”

(33) अपनी चिंताओं को जाने दें ||||

एक मनोवैज्ञानिक कमरे में घूम कर वहा बैठे लोगो को अपनी चिंताओं पर काबू करने के बारे में सीखा रही थी। जब उसने पानी का एक गिलास उठाया तो लोगो ने सोचा की वह पूछेगी वही सवाल की गिलास आधा भरा हुआ है या खाली है। मगर चेहरे पर एक मुस्कान के साथ उसने पूछाContinue reading “(33) अपनी चिंताओं को जाने दें ||||”

(32) ईमानदारी ||||

एक बार एक दूर पूर्व में एक राजा होता था जो बूढ़ा हो रहा था वह जानता था की अब उसे अपना उत्तराधिकारी चुन लेना चाहिए अपने बच्चो या मंत्रियो में से किसी को चुनने की बजाए उसने कुछ अलग करने का निर्णय किया। उसने प्रजा के हर नौजवान को एक साथ बुलाया। उसने कहाContinue reading “(32) ईमानदारी ||||”

(31) तक़लीफो का सामना सकारात्मक तरीके से करे ||||

ये कहानी एक किसान की है जिसके पास एक बूढ़ा खच्चर था वो खच्चर एक दिन किसान के कुए में गिर गया किसान ने खच्चर को भगवान् को याद करते सुना या वो जो भी खच्चर करते है जब वो कुए में गिर जाते है माजरा समझने के बाद किसान को खच्चर के लिए दुःखContinue reading “(31) तक़लीफो का सामना सकारात्मक तरीके से करे ||||”

(30) ये समय भी निकल जायेगा||||

एक अमीर बुढा मरने वाला था डाक्टर कह चुके थे की वह छ महीने से ज्यादा जिंदा नहीं रहेगा अब इस बूढ़े आदमी के तीन बेटे थे उसने उन्हें अपने पास बुलाया और उन तीनो के बीच अपनी जायदाद बराबर बराबर बाट दी मगर अपने सबसे छोटे बेटे को उसने एक छोटी अंगूठी और भेटContinue reading “(30) ये समय भी निकल जायेगा||||”

(29) क्षमा करो और भूल जाओ||||

एक बूढ़े आदमी की अपने इकलौते बेटे से बहस हो गयी उसने बहुत बार माफ़ी मांगी मगर उस नौजवान ने उसकी एक ना सुनी। पिता ने हार नहीं मानी क्योकि वो अपने बेटे से बेहद प्यार करते थे मगर बेटे ने उन्हे माफ़ नहीं किया क्योकि वो अपने घमंड में चूर था सालो गुजर गएContinue reading “(29) क्षमा करो और भूल जाओ||||”

(28) जिम्मेदारियाँ ||||

एक बार जो ई ब्राउन नामी अभिनेता व हास्य अभिनेता सैनिको के एक बड़े ग्रुप को सम्बोधित कर रहे थे जब भी वह ख़तम करना चाहते सैनिक शोर मचा कर उन्हें कार्यक्रम बढ़ाने को कहते। फिर एक ने कहा जो गन्दी कहानिया सुनाओ सन्नाटा इतना गहरा छाया की सुई गिरने की आवाज भी सुनाई देContinue reading “(28) जिम्मेदारियाँ ||||”

(27) बेहतर आत्मविश्वास ||||

क्या आप नकारात्मक सलाहों से जल्दी से डर जाने वालो में से है बेहतर आत्मविश्वास के इस छोटे से सबक का अनुसरण करे। हेनरी वार्ड बिचर जब स्कूल में पड़ता था उसने आत्मविश्वास का ऐसा सबक सीखा जो वह कभी नहीं भुला उसे पूरी कक्षा के सामने कवितापाठ के लिए भुलाया गया उसने शुरू हीContinue reading “(27) बेहतर आत्मविश्वास ||||”